[ad_1]

Tulsi Plant Care Tips: घर के आंगन में या आपके फ्लेट की बाल्‍कनी में लगा तुलसी का पौधा आपके घर में समृद्ध‍ि को द‍िखाता है. धार्मिक मान्‍यताओं की मानें तो ज‍िस घर में तुलसी की पूजा होती है और जहां तुलसी हरी-भरी रहती है, वह घर हमेशा समृद्ध रहता है. लेकिन कई बार बदलते मौसम की वजह से हो या तेज गर्मी की वजह से घर में लगी तुलसी सूख जाती है. तुलसी के पौधे को हरा-भरा रखने के पीछे दादी-नानी शुद्धता का ध्‍यान रख्‍ने की सलाह देती थीं. लेकिन कभी-कभी शुद्धता रखने के बाद भी ये सूख जाती है. आज हम आपको घर में ही बने एक ऐसे फर्ट‍िलाइजर के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी मुरझाई हुई तुलसी को भी हरा-भरा कर देगा.

क्‍या पीली पड़ रही हैं तुलसी की पत्त‍ियां

  • क्‍या आपकी तुलसी की पत्ति‍यां पीली पड़ रही हैं? अगर ऐसा हो रहा है तो सबसे पहले आप अपनी तुलसी में पानी देना कम करें. क्‍योंकि ज्‍यादा पानी देने से भी तुलसी की पत्ति‍यां पीली हो जाती हैं. इसके साथ ही बहुत ज्‍यादा पानी देने से तुलसी की जड़ों में फंगस लग जाती है. एक बार अगर जड़ खराब हो गई, तो क‍ितनी भी खाद डाल दें, आपकी तुलसी हरी नहीं होगी.
  • साथ ही अगर आपकी तुलसी की पत्त‍ियां धीरे-धीरे पीली हो रही है तो हो सकता है पत्ति‍यों में फंगस लग रही हो. ऐसी पत्त‍ियों को तुरंत अपने पौधे से अलग कर दें.

ज्‍यादा खाद भी खतरनाक

अगर आप अपने तुलसी के पौधे में बहुत ज्‍यादा खाद दे रहे हैं तो भी गलती कर रहे हैं. इस पौधे में बहुत ज्‍यादा खाद नहीं डाली जाती है. ज्‍यादा खाद भी इसे सुखा देती है और इसकी जड़ें जल जाती हैं. तुलसी के पौधे में 15 से 20 द‍िनों के अंतराल पर ही खाद देनी चाहिए.

tulsi

वास्तु शास्त्र में तुलसी को घर में रखना शुभ माना जाता है. इसे उत्तर पूर्व क्षेत्र में रखने से आपके घर की नकारात्मक उर्जा भाग जाती है. 

ऐसे बनाएं होम मेड फर्ट‍िलाइजर

सबसे पहले इस फर्ट‍िलाइजर को बनाने के ल‍िए आप उबली हुई चाय की पत्ती ले लें. जब भी घर में चाय बनाएं, उसकी पत्ती को 2 या 3 पानी से धोकर आप उसे सुखा लें. अगर आप तुलसी में चाय की उबली पत्ती नहीं डालना चाहते तो आप क चम्‍मच ताजा पत्ती भी ले सकते हैं. अब एक कटोरी में एक चम्‍मच हल्‍दी लें, 3 चम्‍मच उबली हुई चाय की सुखी पत्ती लें (ताजा पत्ती ले रहे हैं तो 1 चम्‍मच ही लें). अब केले के छ‍िलकों को धूम में 3-4 द‍िन सुखाकर उसका पाउडर बनाइए. इस पाउडर की 2 चम्‍मच म‍िक्‍चर में डालें. अब इस फर्ट‍िलाइजर को अच्‍छे से म‍िला लें.

अब आपको ये फर्ट‍िलाइजर अपने तुलसी के पौधे में डालना है. जब भी आप अपनी तुलसी में ये फर्ट‍िलाइजर डालें, याद रखें कि तुलसी की म‍िट्टी सूखी होनी चाहिए. केले के पाउडर से आपकी तुलसी में मंजरी आनी भी शुरू हो जाएंगी.

Tags: Lifestyle, Plantation

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *