[ad_1]

रिपोर्ट-कृष्णा कुमार गौड़
जोधपुर. त्योहार और शादियों का सीजन शुरू होते ही जोधपुर में दूध के भाव में भी उतार-चढ़ाव हो रहा है. ऐसा लग रहा है जैसे दूध का न होकर शेयर बाजार हो जो कभी एकदम उछाल ले रहा है तो कभी औंधे मुंह गिर रहा है. एक ही दिन में तीन चार बार दाम बदल रहे हैं. बाजार में सिंथेटिक दूध भी बिक रहा है.

जोधपुर में दूध के चौहटों पर अजब स्थिति है. यहां हर तीन-चार घंटे में बदलती दूध की कीमतें लोगों को हैरानी में डाल रही हैं. लोग परेशान होते हैं. कहते हैं सुबह तो पचास था अब दोपहर में क्या हो गया जो पचपन पहुंच गया और शाम होते होते साठ रुपए प्रति लीटर. लोग इस सोच में पड़ जाते हैं कि आखिर यह दूध है या फिर सोना जिसके भाव पल-पल में बढ़ और घट रहे हैं. शादी समारोह के अवसर पर तो दूध आसमान पर बैठता ही है.

पाउडर वाले दूध ने तोड़ी कमर
दूध के बढ़ते भावों के बीच दूध विक्रेताओं को यह चिंता जरूर सताती है कि अब दूध से ज्यादा आमदनी नहीं होती. क्योंकि खर्चा बढ़ गया है. पाउडर वाले दूध ने बाजार को तहस नहस कर दिया है. 2 किलो दूध पाउडर जिसकी कीमत 600 रुपये है उससे 40 लीटर दूध बनाकर 1600 रुपये में बेचा जा रहा है. घर में गाय का दूध 46-47 रुपये पड़ता है जो 50-55 रुपये में बिकता है. गाढ़े दूध की चाहत में लोग धोखा खा रहे हैं और मिलावटी और पाउडर वाला दूध खरीद रहे हैं. सरस और अमूल दूध आने से स्थानीय कारोबारियों को 30 से 40 फीसदी नुकसान हुआ है. मिलावटी दूध से लोगों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ रहा है.

एक महीने में 5 करोड़ का धंधा
जोधपुर शहर में रोजाना 30 से 35 हजार लीटर दूध की खपत होती है. एक समय या जब इस बाजार से 40 से 50 हजार लीटर दूध की खपत होती थी, लेकिन समय के साथ यह खपत कम हो गयी है. बावजूद आज भी दूध बाजार में करोड़ों का कारोबार होता है. एक दिन में 12 से 15 लाख रुपये का दूध बिकता है. एक महीने में जोधपुरवासी 5,00,00,000 रुपए का दूध पी जाते हैं.

गोपालकों की मुश्किल बढ़ी
बढ़ती महंगाई ने गोपालकों की मुश्किल बढ़ा दी है. पहले पशु आहार 10 से 11 रूपये में मिलता था. आज वही पशु आहार 30 से 31 रुपए में मिलता है. जिस तरह घर में कोई महिला गर्भवती होती है और उसके लिए लड्डू बनाए जाते हैं. इसी तरह जब गाय बछड़े को जन्म देती है तो उसे भी लड्डू, घी और आयुर्वेदिक जड़ी- बूटियाँ दी जाती हैं.

Tags: Food business, Jodhpur News, Local18

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *