[ad_1]

आशीष त्यागी/बागपत: अकरकरा ईरानी एक ऐसी औषधि है, जिसके नियमित सेवन से शरीर में होने वाले दर्द में राहत मिलती है. यह मसूड़ों में लगने वाले पायरिया में बहुत तेजी से असर कर उसे ठीक करता है. वहीं, पेट संबंधित समस्याओं को तेजी से ठीक करता है. आयुर्वेद और हर्बल दोनो में दवा के रूप में इसका प्रयोग किया जाता है.

आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉक्टर राघवेंद्र चौधरी (रणजीत सिंह मेमोरियल क्लीनिक खेकड़ा) ने बताया कि अकरकरा एक ऐसी औषधि है, जो शरीर को बहुत सारे लाभ पहुंचाती है. अकरकरा औषधीय गुणों से भरपूर होता है, जिसकी जड़ों और पत्तियों में एल्कलॉइड, क्यूमीन, फ्लेवोनोइड्स और टैनिन के साथ साथ स्टेरोल्स भी अच्छी मात्रा पाया जाता है. इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और अमीनो एसिड कई गंभीर शारीरिक परेशानियों से छुटकारा दिलाने में सहायक होते हैं.

कई बीमारियों में होता है इसका इस्तेमाल
अकरकरा की जड़ का इस्तेमाल कई बीमारियों में किया जाता है. यह शरीर में होने वाली कमजोरी के साथ-साथ पेट संबंधित समस्या और मसूड़ों में लगने वाले पायरिया को ठीक करता है. अकरकरा को आप अश्वगंधा के साथ मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं. अन्य औषधियों में भी इसका इस्तेमाल काफी ज्यादा लाभकारी होता है. यह ऐसी औषधि है, जिसे आप नियमित मात्रा में लेकर अपने आप को स्वस्थ रख सकते है. इसका अत्यधिक सेवन नहीं करना चाहिए.

दूध के साथ करें इस्तेमाल
डॉ. राघवेंद्र चौधरी ने बताया कि अकरकरा की जड़ का इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है. इसकी जड़ का चूर्ण बनाकर दूध के साथ इस्तेमाल किया जाता है. इसका चूर्ण कई खाद्य सामग्री के साथ भी आसानी से मिलाकर उपयोग में लाया जा सकता है. इसका कोई साइड इफेक्ट शरीर पर नहीं होता है.

Tags: Baghpat news, Local18

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *