हाइलाइट्स

पेशाब का रंग गहरा पीला होना किडनी इंफेक्शन का संकेत भी हो सकता है.
अगर पेशाब का रंग लाल हो जाए, तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें.

Abnormal Urine Color: पेशाब का रंग सेहत से जुड़े कई राज़ खोलता है. पेशाब का कलर बदलना बीमारियों का संकेत भी हो सकता है और इसे लेकर लोगों को लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. गर्मियों में अक्सर लोगों को पीले रंग का पेशाब आने लगता है, लेकिन अगर हर मौसम में आपको यह परेशानी आ रही है, तो सावधान होने की जरूरत है. डिहाइड्रेशन, पीलिया समेत कई परेशानियां होने पर यूरिन का कलर पीला हो जाता है और खूब पानी पीने के बावजूद रंग पीला ही रहता है. हालांकि कई लोगों को अन्य कारणों से भी यह समस्या हो सकती है, जिसका पता जांच के बाद लगाया जा सकता है. यूरोलॉजिस्ट की मानें तो पेशाब का रंग पीला होना बहुत कॉमन समस्या है और अधिकतर लोग इसका सामना करते हैं. इनमें से तमाम लोग ठीक हो जाते हैं, जबकि कुछ लोगों में यह बीमारी का संकेत हो सकता है.

नई दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल के सीनियर यूरोलॉजिस्ट डॉ. अमरेंद्र पाठक के मुताबिक आमतौर पर पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने की वजह से लोगों की यूरिन का कलर पीला हो जाता है. डिहाइड्रेशन की वजह से यह समस्या हो जाती है. जब लोग खूब पानी पीते हैं, तो यूरिन का कलर नॉर्मल होने लगता है. ऐसा होना खतरे का संकेत नहीं होता है. कई बार दवाएं खाने की वजह से भी पेशाब का रंग पीला हो जाता है, लेकिन कुछ समय पर सामान्य हो जाता है.

एक्सपर्ट के अनुसार अगर खूब पानी पीने के बावजूद लंबे समय तक पेशाब का रंग गहरा पीला रहे, तो यह पीलिया का लक्षण हो सकता है. किडनी या लिवर में कोई समस्या होने पर भी पेशाब का कलर पीला हो सकता है. ऐसे लोगों को तुरंत डॉक्टर से मिलकर जांच करानी चाहिए. यूरिन से जुड़ी अन्य परेशानियों की वजह से पेशाब का रंग बदल सकता है. जांच के बाद ही सटीक कारणों का पता लगाया जा सकता है.

डॉक्टर की मानें तो कई बार पेशाब का रंग लाल हो जाता है, जो सेहत से जुड़ी गंभीर परेशानियों का संकेत हो सकता है. अगर किसी व्यक्ति को लाल रंग का पेशाब आ रहा है, तो उसे तुरंत डॉक्टर से मिलकर टेस्ट कराना चाहिए. कई बार लोगों के पेशाब में खून आने लगता है और इससे रंग लाल हो जाता है. अगर आपकी पेशाब का रंग लाला है, तो यह किडनी स्टोन, यूरेटर स्टोन और पेशाब की थैली के कैंसर का संकेत हो सकता है. ऐसा होने पर बिल्कुल भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. अगर लाल या किसी अन्य कलर का पेशाब आने पर भी लोगों को एक्सपर्ट से मिलकर कंसल्ट करना चाहिए.

यह भी पढ़ें- इस चीज में दूध और अंडा से 10 गुना ज्यादा प्रोटीन, सिर्फ एक कटोरी कर लें सेवन, फौलाद सा मजबूत बनेगा शरीर

यह भी पढ़ें- 30 साल से ज्यादा उम्र के लोग हो जाएं अलर्ट, बढ़ रही कानों की यह गंभीर समस्या, डरा देंगे WHO के आंकड़े

Tags: Health, Lifestyle, Trending news



Source link

64 thoughts on “पेशाब का रंग पीला होना किस बीमारी का संकेत? कब करानी चाहिए जांच, डॉक्टर से जानें काम की बात”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *