सिमरनजीत सिंह/शाहजहांपुर : अगर आप डॉग लवर हैं तो इन दिनों अपने डॉग का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है. क्योंकि बदलते मौसम में कुत्तों को कई बीमारियां चपेट में लेती हैं. जिसमें कई बार आपके कुत्ते की जान भी जा सकती है. ऐसे में जरूरी है कि आप अपने कुत्ते को समय पर टीकाकरण कराते रहे. जिससे आपका पालतू कुत्ता स्वस्थ रहेगा.

कृषि विज्ञान केंद्र नियामतपुर के पशुपालन विभाग के डॉ. शिवकुमार यादव बताते हैं कि कुत्तों के छोटे बच्चों को कई तरह के वायरस से चपेट में लेते हैं. इतना ही नहीं हेपेटाइटिस जैसी बीमारी भी कुत्तों की जान ले सकती है. ऐसे में कुत्तों को 7 इन 1 की वैक्सीन जरूर लगवाना चाहिए. जिससे आपका कुत्ता स्वस्थ रहेगा और बीमारियों की चपेट में आने से बचा रहेगा.

7 इन 1 वैक्सीन के फायदे
डॉ. शिवकुमार यादव ने बताया कि 7 इन 1 वैक्सीन लगवाने से कैनाइन पार्वो वायरस, कैनाइन डिस्टेंपर, पार्वो वायरस टाइप 1, पार्वो वायरस टाइप 2, हेपेटाइटिस और लेप्रोस्पायरस जैसी बीमारियों से बचाया जा सकता है क्योंकि यह बीमारियां कुत्तों को छोटी उम्र में ही चपेट में लेती है. जिसमें कुत्ता उल्टी और दस्त करने लगता हैं. इतना ही नहीं इन बीमारियों की चपेट में आने से कुत्ते के दिल की नसों में सूजन आ जाती है और कई बार तो कुत्ता मर भी जाता है.

टीकाकरण के बाद रखें इन बातों का ध्यान
डॉ. शिवकुमार यादव ने बताया कि 7 इन 1 वैक्सीन की पहली डोज 6 सप्ताह पर दी जानी चाहिए. उसके तीन सप्ताह बाद एक बूस्टर डोज कुत्ते को दी जाएगी. फिर हर साल एक बार 7 इन 1 वैक्सीन का टीका लगाया जाए तो कुत्ता सुरक्षित रहेगा. कुत्ते का टीकाकरण कराने के बाद भी कुछ एहतियात बरतने की जरूरत है. साथ ही अपने पालतू कुत्ते को आवारा कुत्तों से दूर रखना चाहिए. क्योंकि उन कुत्तों को वैक्सीन नहीं लगी होती है. ऐसे में उनसे वायरस आपके कुत्ते को चपेट में ले सकते हैं.

Tags: Agriculture, Health News, Life, Local18, Shahjahanpur News, Uttar Pradesh News Hindi

Disclaimer: इस खबर में दी गई दवा/औषधि और स्वास्थ्य से जुड़ी सलाह, एक्सपर्ट्स से की गई बातचीत के आधार पर है. यह सामान्य जानकारी है, व्यक्तिगत सलाह नहीं. इसलिए डॉक्टर्स से परामर्श के बाद ही कोई चीज उपयोग करें. Local-18 किसी भी उपयोग से होने वाले नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होगा.



Source link

7 thoughts on “ध्यान दें! अपने पेट डॉग को लगवाएं ये वैक्सीन, 7 जानलेवा बीमारियों से रहेगा दूर, जानें शेड्यूल”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *