उधव कृष्ण/पटना. चौके-छक्के लगाने में पावर की जरूरत होती है. वहीं, फील्डिंग के लिए शरीर में पर्याप्त रूप में स्टैमिना का होना आवश्यक होता है. यही कारण है कि क्रिकेटर फिटनेस के मामले में सबसे आगे रहते हैं. वे शरीर में बॉडी फैट से लेकर नियमित तौर पर खाई जाने वाली कैलोरी का पूरी तरह से ध्यान रखते हैं. बिहार रणजी टीम के हेड कोच विकास कुमार कहते हैं कि क्रिकेटर अपनी बॉडी में फैट की मात्रा 12 से 15 प्रतिशत तक मेंटेन करके रखते हैं. अपनी मस्कुलर और लीन बॉडी को मेंटेन रखने के लिए वे नियमित तौर पर एक्सरसाइज भी करते हैं. फिटनेस के मामले में रणजी लेवल के क्रिकेटर भी किसी प्रोफेशनल एथलीट से कम नहीं होते हैं.

विकास आगे बताते हैं कि मैच खेलने के लिए खिलाड़ियों को काफी ज्यादा एनर्जी की जरूरत होती है. यही कारण है कि खिलाड़ी अपनी फिटनेस के लिए खाने-पीने का बहुत ख्याल रखते हैं. चुकी सही खाना खाने से उनका प्रदर्शन बेहतर हो सकता है जबकि गलत डाइट से फील्ड में उनकी परफॉर्मेंस बिगड़ कर सकती है. इसलिए टीम के डायटीशियन मैच से पहले, मैच के दौरान और बाद में क्रिकेटर्स की डाइट का काफी ध्यान रखते हैं. क्रिकेटर को हाई प्रोटीन डाइट (चिकन, सोया, पनीर) इत्यादि के साथ कार्ब्स वाली डाइट और हर 02 घंटे में तरल पदार्थ भी दिया जाता है. जिसमें फल के साथ जूस शामिल होते हैं. वहीं, हड्डियों के लिए एग टू ऑर्डर ब्रेकफास्ट से लेकर डिनर तक दिया जाता है.

यह भी पढ़ें- असेंबली पर बम गिराने… सांडर्स को गोली मारने की, यहां लिखी गई थी पटकथा, काकोरी कांड को दिया था अंजाम

घर का साधारण खाना है पसंद
बता दें कि बिहार रणजी टीम के प्लेयर भी अपनी डाइट को लेकर भी काफी एक्टिव और सीरियस रहते हैं. अधिकांश प्लेयर बाहर का खाना खाने के बजाय घर पर बना साधारण खाना ज्यादा पसंद करते हैं. साथ ही वे शारीरिक स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के साथ ही मेंटल हेल्थ को बेहतर रखने के लिए भी शरीर पर काम करते हैं. बिहार के रणजी प्लेयर सचिन कुमार सिंह बताते हैं कि डाइट में कार्बोहाइड्रेट्स और फैट की मात्रा को काफी कम रखते हैं. साथ ही खाने में वे साधारण खाना जैसे पनीर, दाल, हरी सब्जियां, आटे की रोटी इत्यादि खाना ज्यादा पसंद करते हैं. बताते चलें कि सचिन वेजिटेरियन डाइट फॉलो करते हैं. जबकि बिहार के अन्य कई प्लेयर प्रोटीन और कैल्शियम के लिए चिकन और एग खाना खूब पसंद करते हैं.

क्या होता है क्रिकेटरों का मेन्यू?
बीसीए के जनरल मैनेजर क्रिकेट (ऑपरेशन) सुनील कुमार सिंह की मानें तो क्रिकेटर पहले रणजी का ऐम लेकर ही खेलना शुरू करते हैं. उन्होंने ये भी बताया कि रणजी खिलाड़ियों को सुबह के नाश्ते में खिलाड़ियों के लिए बॉयल एग टू ऑर्डर, वेज सैंडविच, कट फ्रूट सैलेड, जूस, चाय, कॉफी, स्प्राउटेड मूंग, उबला चना, कस्टर्ड और दही दी जाती है. जबकि दिन के लंच में रोटी, स्टीम्ड राइस, चिकन दो प्याजा (कम मसाले के साथ), मछली, चिकन सैलेड, एग टू ऑर्डर, दाल, स्टीमड सब्जी, एक कढ़ी, पापड़, सलाद और छाछ की व्यवस्था होती है. वहीं, शाम में हाई टी में भी एग पकौड़ा, लिट्टी चोखा इत्यादि खाने को मिलता है. यही कारण है कि आम आदमी और क्रिकेटर की डाइट में काफी अंतर होता है.

Tags: Bihar News, Cricket, Food, Local18, PATNA NEWS, Sports news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *