अरशद खान/देहरादून. अमूमन बाजारों में कस्टमर इस बात से परेशान रहते हैं कि उन्हें क्वालिटी की मिठाइयां खाने को नहीं मिलती हैं. अक्सर हम देखते हैं कि बाजार में मिलावटी मिठाइयों का बोलबाला रहता है, जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित होती हैं. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में मूल रूप से चमोली के रहने वाले गोविंद सिंह मेहर पहाड़ी अनाज मंडुवे और चौलाई से बनी मिठाइयां कस्टमर को बेच रहे हैं. वह देवभोग मिठाई नाम से बिक्री करते हैं. उनकी मिठाइयां मंडुवे, देसी घी और गुड़ से बनी होती हैं, जोकि सेहत को किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं पहुंचाती. वह मंडुवे के लड्डू, मंडुवे की बर्फी, मंडुवे की नमकीन, मंडुवे के बिस्कुट, चौलाई के लड्डू, चौलाई की बर्फी आदि बनाते हैं.

लोकल 18 से बातचीत में गोविंद सिंह मेहर ने कहा कि वह उत्तराखंडी मिलेट्स पर 2002 से काम कर रहे हैं. उन्होंने चारों धाम समेत प्रदेशभर के मंदिरों के लिए प्रसाद बनाने का काम भी किया. उनकी इस पहल को मुख्यमंत्री बनने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी सराहा था. वह अब पहाड़ी मंडुवे और चौलाई से मिठाई बना रहे हैं. यह मिठाइयां सेहत के लिए फायदेमंद होने के साथ लाजवाब स्‍वाद रखती हैं. साथ ही बताया कि उन्होंने उत्तराखंड सरकार की भोग प्रसाद योजना को भी चलाया है, जो कि बद्रीनाथ धाम से संचालित हुई थी. इसके अलावा उन्हें भारत सरकार से सबसे पहले उत्तराखंड में भोग क्लस्टर मिला है.

अन्य मिठाई के मुकाबले ज्यादा पौष्टिक पहाड़ी मिठाई
गोविंद मेहर ने बताया कि पहाड़ी मंडुवे और चौलाई की मिठाइयां बाजार की अन्य मिठाइयों के मुकाबले ज्यादा पौष्टिक हैं. इस बात को वह खुद नहीं कह रहे हैं बल्कि उनके प्रोडक्ट की कई लैब ने जांच की है. जांच में इस बात की पुष्टि हुई है. मंडुवा आपके शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ पहुंचाता है. वहीं, देसी घी भी अपने आप में सभी पोषक तत्वों से भरपूर माना जाता है. इसके अलावा पहाड़ी गुड़ इसमें मिठास को बरकरार रखता है. वहीं, चौलाई के भी शरीर पर कोई बुरे प्रभाव नहीं होते हैं.

कैसे करें संपर्क?
राजधानी देहरादून में देवभोग मिठाई का स्वाद लेने के लिए आपको गढ़वाल कॉलोनी रिंग रोड पहुंचना होगा. रिंग रोड पर किसान भवन और निर्वाचन भवन के ठीक सामने लाइन नंबर 3 में देवभोग मिठाई की दुकान है.

Tags: Dehradun news, Food, Food 18



Source link

One thought on “govind-singh-meher-devbhog-mithai-brand-mandua laddu-and-chaulai barfi famous in uttarakhand – News18 हिंदी”
  1. I would like to express my admiration for your article, which is quite astonishing. The clarity of your post is remarkable, leading me to believe that you are an authority on this subject. If it’s okay with you, I would like to subscribe to your RSS feed in order to be notified of future posts. Your work is greatly appreciated.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *