ऋतु राज/मुजफ्फरपुर. पंजाब का फेमस तंदूरी नान खाने के लिए अब आपको मुजफ्फरपुर से बाहर नहीं जाना पड़ेगा. क्योंकि यहां बिल्कुल पंजाबी स्टाइल में तंदूरी नान और छोला खिलाया जाता है. यह स्टॉल 8 साल पुराना है. इसको बनाने वाले कारीगर रौशन ने बताया कि वह खास पंजाब जाकर इस डिश को बनाना सीखें हैं. यहां पर तीन प्रकार का नान मिलता है. साथ ही पंजाब का फेमस तंदूरी नान को लोग मुजफ्फरपुर में खूब पसंद कर रहे है. शहर के मोतीझील में रौशन अमृतशरी तंदूरी नान का यह स्टॉल लगता है. जहां लोग तन्दूरी नान के साथ छोला खूब पसंद करते है.

यह स्टॉल 8 साल पुराना है. तंदूरी नान पंजाब का आइटम है. जिसे लोग बिहार में भी खूब पसंद कर रहे है. लोग शहर के कोने-कोने से यहां तंदूरी नान खाने के लिए आते हैं. शाम के समय लोगों की खूब भीड़ लगती है. सुबह के 9 बजे इनका स्टॉल खुलता है और रात के 8 बजे बंद हो जाता है. रौशन तीन तरह का पंजाबी नान बनाते है. आलू नान 40 रुपए, स्पेशल नान 50 रुपए और पनीर नान 90 रुपए है.

ऐसे बनाते हैं नान
स्टॉल के संचालक रौशन कुमार ने बताया की वह एक प्लेट में 2 तंदूरी नान नान के साथ छोला और धनिया की चटनी और सलाद के साथ प्लेट लगाते हैं. रौशन शहर के रामबाग के रहने वाले. वह ग्रेजुएशन के छात्र है. यह काम वो अपने पार्ट टाइम में करते है. रौशन ने इसे बनाना पंजाब रहकर सीखा. जिसके बाद मुजफ्फरपुर आकर उन्होंने यह तंदूरी नान का स्टॉल खोल दिया. रौशन ने बताया की वह पहले नान में आलू भरते हैं. फिर उसे गर्म आग पर सेकते हैं. साथ ही इसमें घी का भी उपयोग करते है. जिसके बाद स्वाद में चार चांद लग जाता है. लोग भी बड़े चाव से यहां तन्दूरी नान और छोला खाते हैं.

Tags: Food, Food 18, Local18



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *