सिमरनजीत सिंह/शाहजहांपुर: अगर आप भी फिल्मी एक्ट्रेस की तरह स्लिम ट्रिम दिखना चाहती हैं, तो आपके लिए जमीन के अंदर उगने वाली हाथीचक(Artichokes)नाम की सब्जी रामबाण साबित हो सकती है. इसके अलावा यह सब्जी आपको मधुमेह, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित और हार्ट अटैक से जानलेवा खतरों से भी बचाती है.

कृषि विज्ञान केंद्र नियामतपुर की गृह विज्ञान की वैज्ञानिक डॉक्टर विद्या गुप्ता ने बताया कि हाथीचक (Artichokes)जमीन के अंदर उगाई जाने वाली सब्जी है. यह देखने में अदरक जैसी लगती है. काटने पर प्याज की तरह इसमें अंदर परत दिखाई देती हैं. यह अंदर से सफेद होती है. इसकी तासीर गर्म होती है. जिसकी वजह से लोग इसको सर्दियों में खाना बेहद पसंद करते हैं.

पोषक तत्वों का भंडार है हाथीचक

हाथीचक में प्रोटीन, फाइबर, शुगर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, जिंक, कई विटामिन जैसे- विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के और विटामिन ई पाए जाते हैं. जिसकी वजह से यह आपको मधुमेह, हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रित, पाचन तंत्र को मजबूत करने और दिल की बीमारियों से दूर रखती है. इतना ही नहीं यह हार्ट अटैक जैसे जानलेवा खतरे को भी काफी हद तक कम करती है.

कैसे और कितना करें सेवन

सर्दियों के मौसम में हाथीचक 100 ग्राम से 150 ग्राम तक खाई जा सकती है. इसकी सब्जी बेहद स्वादिष्ट बनती है. इसके अलावा इसका सूप बनाकर भी सेवन किया जा सकता है. हाथीचक को सुखाकर उसका पाउडर बनाकर अन्य सब्जियों में मसाले की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं. डॉक्टर विद्या गुप्ता ने बताया कि ध्यान रखें की हाथीचक का सेवन सप्ताह में दो बार ही करें. क्योंकि इसकी तासीर बेहद गर्म होती है. ज्यादा मात्रा में सेवन करने पर आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकती है.

मोटापा कम करने के लिए अचूक

हाथीचक का अगर नियमित तौर पर सेवन किया जाए. तो इससे मोटापे को कम किया जा सकता है. जो महिलाएं खुद को स्लिम ट्रिम देखना पसंद करती है. वह इसका अगर सेवन करेंगी तो खासकर कमर की चर्बी को तेजी से कम करने में मददगार साबित होगा.

Disclaimer: इस खबर में दी गई दवा/औषधि और हेल्थ बेनिफिट रेसिपी की सलाह, हमारे एक्सपर्ट्स से की गई चर्चा के आधार पर है. यह सामान्य जानकारी है न कि व्यक्तिगत सलाह. हर व्यक्ति की आवश्यकताएं अलग हैं, इसलिए डॉक्टर्स से परामर्श के बाद ही किसी चीज का इस्तेमाल करें. कृपया ध्यान दें, Local-18 की टीम किसी भी उपयोग से होने वाले नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होगी.

Tags: Health benefit, Hindi news, Local18



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *